Essay Of Christmas In Hindi

skip to main | skip to sidebar

Short Essay on 'Christmas' in Hindi | 'Christmas' par Nibandh (170 Words)

Short Essay on 'Christmas' in Hindi | 'Christmas' par Nibandh (170 Words)
क्रिसमस

'क्रिसमस' ईसाइयों का प्रसिद्द त्यौहार है। यह 25 दिसंबर को प्रति वर्ष सम्पूर्ण विश्व में धूमधाम से मनाया जाता है। क्रिसमस का त्यौहार ईसा मसीह के जन्मदिन के रूप में मनाया जाता है। यह ईसाइयों का सबसे बड़ा और खुशी का त्यौहार है। इसे 'बड़ा दिन' भी कहा जाता है।

क्रिसमस के त्यौहार की तैयारियां पहले से होने लगती हैं। क्रिसमस के दिन घरों की सफाई की जाती है एवं ईसाई लोग अपने घर को भलीभांति सजाते हैं। नए-नए कपड़े खरीदे जाते हैं। ईसाई लोग क्रिसमस के दिन विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाते हैं। बाजारों की रौनक बढ़ जाती है। घर और बाजार रंगीन रोशनियों से जगमगा उठते हैं।

क्रिसमस के दिन गिरिजाघरों में विशेष प्रार्थनाएं होती हैं एवं जगह-जगह प्रभु ईसा मसीह की झांकियां प्रस्तुत की जाती हैं। इस दिन घर के आंगन में क्रिसमस ट्री लगाया जाता है। क्रिसमस के त्यौहार में केक का विशेष महत्व है। इस दिन लोग एक-दूसरे को केक खिलाकर त्यौहार की बधाई देते हैं। सांताक्लाज का रूप धरकर व्यक्ति बच्चों को टॉफियां-उपहार आदि बांटता है।


Christmas in Hindi :क्रिसमस का नाम सुनते ही बच्चों में उत्साह की लहर दौड़ जाती है और बच्चों को Santa Claus की याद आ जाती है. तो आज मैं बच्चों के लिए  Essay on Christmas in Hindi लेकर आया हूँ जहाँ मैं आपको Christmas festival के बारे में Hindi में बताऊंगा.

Christmas in Hindi : Essay on Christmas in Hindi

क्रिसमस ईसाईयों का सबसे प्रमुख त्यौहार है. जो 25 December को ईसा मसीह के जन्मदिन के अवसर पर पुरे विश्व में बड़ी ही धूमधाम से मनाया जाता है. यह ईसाईयों का सबसे बड़ा त्यौहार है और इसे “बड़ा दिन” के नाम से भी जाना जाता है.आज के दिन लोग अपने घरों को बड़ी ही धूमधाम से सजाते है और इस पर्व को यादगार बनाने के लिए इस पर्व की तैयारियां कई दिन पहले से ही शुरू कर देते है. इस पर्व के लिए घरों में साफ़ सफाई की जाती है, सभी लोग नए कपड़े पहनते है और विभिन्न विभिन्न प्रकार के व्यंजन बनाए जाते हैं।

क्रिसमस को मानाने के लिए आक के दिन के लिए चर्चों को बहुत ही खुबसूरत तरीके से सजाया जाता है। क्रिसमस के कुछ दिन पहले से ही चर्च में प्रभु यीशु मसीह की जन्म गाथा को नाटक के रूप में प्रदर्शित किया जाता है जो न्यू ईयर तक चलते रहते हैं। कई जगह क्रिसमस के दिन मसीह समाज द्वारा जुलूस निकाला जाता है। जिसमें प्रभु यीशु मसीह के जीवन से जुडी झांकियां प्रस्तुत की जाती हैं। क्रिसमस की पूर्व रात्रि, गि‍‍‍‍रिजाघरों में रात्रिकालीन प्रार्थना सभा की जाती है जो रात के 12 बजे तक चलती है। ठीक 12 बजे लोग अपने प्रियजनों को क्रिसमस की बधाइयां देते हैं और खुशियां मनाते हैं।

क्रिसमस पर बनाने वाला का सबसे विशेष व्यंजन केक है, केक के बिना क्रिसमस का पर्व अधूरा रहता है यह ठीक उसी तरह है जैसे होली में गुझिया का ना होना. क्रिसमस के दिन लोग चर्च और अपने घरों में क्रिसमस ट्री सजाते हैं। सांताक्लॉज बच्चों को चॉकलेट्स और गिफ्ट्स देते हैं।

आशा करता हूँ आप लोगों को ये जानकारी Christmas in Hindi, Essay on Christmas in Hindi जरूर अच्छी लगी होगी. Essay on Christmas in Hindi मुख्यतः बालकों को ध्यान में रख कर ही लिखा गया है.जिससे बच्चों को याद करने में आसानी रहे.

0 thoughts on “Essay Of Christmas In Hindi”

    -->

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *